• बनिजैहव माटी कय ढेला का करिहव? | Ajay Pandey

    बनिजैहव माटी कय ढेला का करिहव?

    August 9, 2018 Ajay Pandey

    दुख दर्द दुसरानका दैकय दुसरेक खुन पसिना से आपन तिजोरी भरिकै का करिहव ? जली जहिहव एकदिन बनिजैहव माटी कय ढेला का करिहव ? भाई-भाई में लडाईहव बनिकय मालिकार अपने फैसला सुनाहिहव छोडी जैहव सब , अव जैहव अकेला का करिहव? भारी ब्याज पे कर्जा दैकय पेट भरयकय साधन एक्कय खरिहने में आग लगैहव वुहुककय…

    Read more
  • चलो बैठौनी कारवाजाय । Ajay Pandey

    चलो बैठौनी कारवाजाय । ( अवधी कविता)

    June 29, 2018 Ajay Pandey

    बर्धान कय नाधिकय लावाजाय । खेत जोतिकय बनावाजाय । हेङ्ग वहिपा चालवाजाय । बिया फिर गिरावाजाय । चलो बैठौनी कारवाजाय । खाद खेतेमे गिरावाजाय । लेवा फिर कहरावाजाय । बियाकय उखाराजाय । बोझा वोका बनावाजाय । धईकय मुडीपे पहुचावाजाय । सबजनी मिलिकय बैठावाजाय । नहारी जमिकय खावाजाय । हरेरी कैकय खेतानमा आवाजाय । चलो बैठौनी…

    Read more
  • “कुटिया कै लक्ष्मी पुजा ( अवधी ) । अजय पाण्डेय” is locked कुटिया कै लक्ष्मी पुजा ( अवधी ) । अजय पाण्डेय ( Ajay Pandey Nepal)

    कुटिया कै लक्ष्मी पुजा ( अवधी ) । अजय पाण्डेय

    October 19, 2017 Ajay Pandey

    सबकेहू लक्ष्मी माई कै अगुवानी मे लगा है | हर गवाँ चौराहा पे माई कै मुर्ति खुब सजा है | होइ सबकुछ मंगल अव सुख कय होइंहै बौछार सब कै हृदय मे इहय  अभिलास आव विश्वास भरा है । हमरी कुरियामा कै ज्योति चलगई उंची महलनमा कैसै कहीं हम्मै तो खेते कै चिन्ता बहुत पडा है…

    Read more